Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
वित्तीय संहिता पर फैसला सार्वजनिक प्रतिक्रिया सामने आने के बाद: वित्त मंत् भारत-पाकिस्तान सीमा पर सतर्कता बढ़ाने के निर्देश: राजनाथ कैट 2015 के प्रारूप में बदलाव, 29 नवंबर को होगी परीक्षा मौद्रिक नीति यथावत रख सकता है आरबीआई: बोफा-एमएल पंजाब के डीजीपी ने कहा-आतंकियों के पास थे आधुनिक हथियार ललित मोदी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने की मांग वैंकेया ने संसद के कामकाज में व्यवधान डालने के लिए कांग्रेस पर साधा निशाना सरकार पी-नोट्स पर बिना सोचे विचारे कोई फैसला नहीं लेगी: अरुण जेटली 21 रेलवे स्टेशनों पर ऑनलाइन कैब, कुली बुकिंग सुविधा आरक्षण का लाभ दिलाने को हर विभाग में होंगे विशेष अधिकारी मप्र में पूरे देश में सर्वाधिक 24 हजार 776 प्रकरणों में न्यायालय द्वारा दंड टी.एल.बैठक सम्पन्न स्कूलों में शनिवार को नियमित होगी बाल-सभा स्कूलों को तम्बाकू मुक्त करने की पहल मुख्य सचिव ने दिये निर्देश, जिला अधिकारी शामिल हों जन-सुनवाई में गुफा मंदिर में महाकाल मंदिर जैसा कुण्ड बनेगा अशासकीय विद्यालयों की ऑनलाइन नवीन मान्यता/ नवीनीकरण आयोग द्वारा राज्य सेवा (मुख्य) परीक्षा 2014 की विस्तृत जानकारी प्रकाशित डायल 100 योजना- फर्स्ट रिस्पांस व्हीकल काल के 5 मिनट में पहुँचेगी श्रम विभाग की नवीन अनुज्ञप्ति जारी करने की सेवाएं पूर्णत: ऑन लाइन पत्रकारिता का मुख्य उद्देश्य सच्चाई को सामने लाना- मंत्री श्री गुप्ता प्रदेश के चिकित्सालयों में डायलिसिस की सुविधा मिलेगी CM श्री चौहान द्वारा केंद्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह का स्वागत हरा-भरा और सुन्दर हो हमारा मध्यप्रदेश- मंत्री श्री भार्गव देश की आंतरिक सुरक्षा में सीआरपीएफ का महत्वपूर्ण योगदान- राजनाथ Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

जैनिटेकली मॉडीफाईड बीज एवं हाईब्रीड बीज

MP POST:-24-02-2012
भोपाल।मप्र के किसान कल्याण मंत्री डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया ने विधायक श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगाँव द्वारा शुक्रवार 24 फरवरी 2012 को राज्य विधानसभा में पूछे गये प्रश्न के उत्तर में बताया कि प्रदेश के चयनित सात जिलों के आदिवासी कृषकों को संकर मक्का बीज वितरण हेतु पायलट प्रोजेक्ट के अन्तर्गत 90 प्रतिशत अनुदान पर बीज निगम के माध्यम से बीज वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदाय बीज में से प्रदेश के 3 आदिवासी बाहुल्य जिलों में 73522 क्विंटल संकर मक्का बीज वितरित किया गया है। इससे देशी सफेद मक्का की नस्ल खत्म होने का खतरा नहीं है। राज्य शासन संकर किस्मों के प्रयोगा से उत्पादन वृद्धि हेतु विशेष प्रयास करना चाहती है।