Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
युवा मोर्चा सूचना प्रौद्योगिकी का लोक व्यवहार का अनूठा संदेश देगा तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग 2 सितंबर से पचमढ़ी में CM ने बीमारू राज्य का कलंक धोकर विकसित प्रदेश का निर्माण किया- नंदकुमार विदिशा के सुपर स्मार्ट सिटी के रूप में संवरने भाजपा को विजयी बनायें उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा पंचशील नगर में सी.सी. रोड का भूमि-पूजन उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा श्यामनगर में विशेष सफाई अभियान का शुभारंभ प्रदेश में स्टील सायलो की भण्डारण क्षमता 4 लाख मीट्रिक टन हुई किसान बाँस सम्मेलन रायसेन के रतनपुर में 6 अगस्त को पत्रकारों के लिये स्वास्थ्य-दुर्घटना समूह बीमा योजना स्वर्गीय जगन्नाथ सिंह लोकप्रिय जननेता और कुशल प्रशासक थे याकूब के साथ हमदर्दी जताना राष्ट्र के लिये नुकसानदेह : नायडू आपत्तिजनक भाषण मामला: दिल्ली के सीएम केजरीवाल को कोर्ट से राहत जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़ सकती हैं शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी सरकार ने जताई उम्‍मीद- संसद में टूटेगा गतिरोध हिंदुओं के अपने ही देश में आतंक फैलाने की कोई वजह नहीं: शिवसेना सर्वदलीय बैठक बेनतीजा, मंत्रियों के इस्‍तीफे की मांग को लेकर कांग्रेस अडिग सरकार ने 800 से ज्यादा पोर्न साइट्स को ब्लॉक करने के दिए आदेश सांसदों के निलंबन पर सोनिया ने कहा-लोकतंत्र के लिए यह काला दिन प्लेकार्ड लहराने पर लोकसभा में कांग्रेस के 25 सांसद सस्पेंड एनएससीएन (आई-एम)-भारत सरकार के बीच ऐतिहासित शांति समझौता भगवान श्री महाकाल ने जाने प्रजा के हाल जाति प्रमाण पत्र बनाने का काम सर्वोच्च प्राथमिकता से पूरा करें हज के लिये उड़ाने आगामी 6 सितम्बर से शुरू होंगी भाजपा का यू-टर्न, यूपीए के प्रमुख प्रावधानों को वापस लाने पर सहमत अश्लील वेबसाइटों पर प्रतिबंध भारत का ‘तालिबानीकरण’: देवड़ा माइक्रो-इरीगेशन योजना का क्रियान्वयन अब ऑनलाइन मंत्री श्री पटवा द्वारा 50 लाख से अधिक के लागत के निर्माण कार्यों की समीक्षा सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा-(2) की अंतिम तारीख निर्धारित अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति में स्वप्रमाणित प्रमाण पत्र स्वीकार होगें नगर परिषद लाँजी के निर्वाचन प्रतीक आवंटन में त्रुटि पर हटाये गये एसडीएम नगर परिषद लाँजी में अब होगा 20 अगस्त को मतदान महाविद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के बनेंगे ड्राईविंग लायसेंस श्रीमती सिंधिया 5 अगस्त को जबलपुर में "उद्योगिका" कार्यक्रम में शामिल होंगी पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग को मिली जिम्मेदारी आधार बेस्ड अटेंडेंस सिस्टम "प्रयास से आ रहा है बदलाव मजीठिया वेतन आयोग की अनुशंसा लागू करने शिकायत-सुझाव आमंत्रित मध्यप्रदेश में 10 अगस्त से उद्यानिकी एवं पुष्प महोत्सव पशु चिकित्सकों के प्रशिक्षण का लाभ पशुपालकों को मिले रातीबढ़ हायर सेकेण्डरी स्कूल में लगेगा आर.ओ. सिस्टम 8 सड़क के लिए 501.13 करोड़ की पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति पर्यटन बढ़ाने के लिये प्रदेश की खूबियाँ दुनिया में प्रचारित हों PM श्री मोदी के मार्गदर्शन में भारत के पुनर्जागरण का अनुकूल समय आईआईटी रुड़की ने 71 छात्रों को वापस लिया RBI ने नीतिगत दर जस-की-तस बनाए रखी देश मांग रहा सुषमा, वसुंधरा और शिवराज का इस्तीफा: राहुल गांधी पॉर्न साइट्स पर लगे बैन को वापस ले सकती है सरकार यौन उत्पीड़न की शिकार महिला आईएएस का फेसबुक पोस्ट गवर्नर को नीतिगत दरों पर वीटो की जरूरत नहीं, पर स्वायत्तता जरूरी: राजन जानबूझकर नियमों को चुनौती नहीं दें सदस्य : लोकसभा स्पीकर सार्क देशों के लिए वीजा संबंधी मानदंड 13 राज्यों ने ऑनलाइन खाद्यान आवंटन शुरू किया किसानों के लिए वेब पोर्टल बिजली की मीटरिंग एवं बिलिंग का कार्य निजी निवेशक करेंगे बाफना संबंधी घटना की जानकारी हायकोर्ट रजिस्ट्रार को भेजी पीएम मोदी कर सकते हैं यूएन सतत विकास शिखर सम्मेलन को संबोधित सीएस श्री अंटोनी डिसा ने समाधान ऑन लाइन में सुलझाये मामले Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

चार नर्मदा परियोजनाओं को जल आयोग की स्वीकृति

MP POST:-25-02-2012
भोपाल।भारत सरकार के केन्द्रीय जल आयोग ने नर्मदा घाटी की चार वृहद परियोजनाओं को सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान कर दी है। ये परियोजनाएँ हैं चिंकी, शेर, मच्छरेवा और शक्कर। आयोग ने इन परियोजनाओं के प्राथमिक प्रतिवेदनों के अध्ययन के बाद विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन तैयार करने के लिये नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण को सूचित किया है।
जिन परियोजनाओं को स्वीकृति दी गई है उनमें प्रस्तावित चिंकी परियोजना का निर्माण नर्मदा नदी पर ग्राम पिपरिया के पास नरसिंहपुर जिले में होगा। परियोजना के निर्माण से रायसेन और नरसिंहपुर जिलों में 73 हजार 979 हेक्टेयर सिंचाई क्षमता निर्मित होगी। इसके साथ ही परियोजना से 15 मेगावाट जल विद्युत का उत्पादन भी किया जा सकेगा। आरम्भिक अनुमान के अनुसार परियोजना की लागत लगभग 600 करोड़ रूपये है।
स्वीकृत शेर परियोजना नरसिंहपुर जिले में नर्मदा की सहायक शेर नदी पर और मच्छरेवा परियोजना इसी जिले में नर्मदा की सहायक मच्छरेवा नदी पर प्रस्तावित है। शक्कर परियोजना छिन्दवाड़ा जिले में नर्मदा की सहायक शक्कर नदी पर प्रस्तावित है। यह तीनों परियोजनाएँ एक काम्पलेक्स के रूप में निर्मित होगी। इनके जलाशयों से सिंचाई जल कामन मुख्य नहर में प्रवाहित होकर 64 हजार 800 हेक्टेयर सिंचाई क्षमता निर्मित करेगा। सम्मिलित रूप से इन परियोजनाओं की लागत 650 करोड़ रूपये आँकी गई है।
नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री ओ.पी. रावत ने बताया कि इन चार परियोजनाओं की सैद्धांतिक सहमति वृहद परियोजनाओं के निर्माण में महत्वपूर्ण कदम है। इन परियोजनाओं के विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन शीघ्र तैयार किये जायेंगे। श्री रावत ने बताया कि प्राधिकरण ने परियोजनाओं के अनुमोदन, निर्माण और परियोजना लाभ को केन्द्रित कर बहुआयामी रणनीति लागू की है। लक्ष्य है मध्यप्रदेश को आवंटित जल के उपयोग को वर्ष 2020 तक सुनिश्चित करना।