Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
सागर में मुख्यमंत्री श्री चौहान के रोड शो में उमड़ा जन-सैलाब प्रदेश में बिछेगा लघु एवं कुटीर उद्योगों का जाल ग्लोबल, ग्रीन और स्मार्ट सिटी बनेगा भोपाल उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा चूनाभट्टी में सी.सी. रोड का भूमि-पूजन छठ पर्व जल्द ही राष्ट्रीय पर्व का रूप ले लेगा : श्री यादव असम के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की PM ने 'मन की बात' कार्यक्रम पर प्राप्‍त सुझावों और टिप्पणियों की प्रशंसा की PM ने तुर्की के लोगों को उनके राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर शुभकामनाएं दीं प्रधानमंत्री ने छठ पर्व के पावन अवसर पर देशवासियों को बधाई दी नीलोफर चक्रवात को लेकर एनडीआरएफ ने गुजरात में 14 टीमें तैनात की एनआईटी समाज के साथ गहरा जुड़ाव स्‍थापित करेः राष्‍ट्रपति नागालैंड के मुख्यमंत्री टी आर जेलियांग ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की सरकार गठन के लिए सभी दलों से बात करेंगे नजीब जंग नवाजे़ जायेंगे बेहतर कार्य करने वाले विन्ध्यवासियों को महत्वपूर्ण सौगात विपत्तिग्रस्त महिलाओं को फेशन डिजायनिंग एवं गारमेंट मेकिंग का प्रशिक्षण मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा केन्द्रीय मंत्रियों का स्वागत राज्यपाल द्वारा 31 अक्टूबर को "राष्ट्रीय एकता दिवस" मनाने के निर्देश 100 रुपये में मिलेगी मतदाता सूची की सीडी राष्ट्रीय एकता दिवस पर होगी शपथ प्रदेश की महिला-बाल योजनाओं और उनके परिणामों की सराहना मंथन की अनुशंसाओं को क्रियान्वित करने मंत्री-परिषद समिति गठित तीन श्रम कानून में संशोधन अध्यादेश जारी प्रधानमंत्री से मिले गोवा के मुख्यमंत्री अजीम प्रेमजी ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की प्रधानमंत्री ने श्रीलंका में भूस्खलन में लोगों की मौत पर संवेदना प्रकट की राष्ट्रपति कल राष्ट्रपति भवन में एकता के लिए दौड़ को हरी झंडी दिखाएंगे उमा भारती कल कानपुर जाएंगी मोदी सरकार का खर्च कटौती अभियान की शुरुआत सिख दंगा पीडि़तों के परिजनों को मिलेगा 5-5 लाख रुपये मुआवजा Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

चार नर्मदा परियोजनाओं को जल आयोग की स्वीकृति

MP POST:-25-02-2012
भोपाल।भारत सरकार के केन्द्रीय जल आयोग ने नर्मदा घाटी की चार वृहद परियोजनाओं को सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान कर दी है। ये परियोजनाएँ हैं चिंकी, शेर, मच्छरेवा और शक्कर। आयोग ने इन परियोजनाओं के प्राथमिक प्रतिवेदनों के अध्ययन के बाद विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन तैयार करने के लिये नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण को सूचित किया है।
जिन परियोजनाओं को स्वीकृति दी गई है उनमें प्रस्तावित चिंकी परियोजना का निर्माण नर्मदा नदी पर ग्राम पिपरिया के पास नरसिंहपुर जिले में होगा। परियोजना के निर्माण से रायसेन और नरसिंहपुर जिलों में 73 हजार 979 हेक्टेयर सिंचाई क्षमता निर्मित होगी। इसके साथ ही परियोजना से 15 मेगावाट जल विद्युत का उत्पादन भी किया जा सकेगा। आरम्भिक अनुमान के अनुसार परियोजना की लागत लगभग 600 करोड़ रूपये है।
स्वीकृत शेर परियोजना नरसिंहपुर जिले में नर्मदा की सहायक शेर नदी पर और मच्छरेवा परियोजना इसी जिले में नर्मदा की सहायक मच्छरेवा नदी पर प्रस्तावित है। शक्कर परियोजना छिन्दवाड़ा जिले में नर्मदा की सहायक शक्कर नदी पर प्रस्तावित है। यह तीनों परियोजनाएँ एक काम्पलेक्स के रूप में निर्मित होगी। इनके जलाशयों से सिंचाई जल कामन मुख्य नहर में प्रवाहित होकर 64 हजार 800 हेक्टेयर सिंचाई क्षमता निर्मित करेगा। सम्मिलित रूप से इन परियोजनाओं की लागत 650 करोड़ रूपये आँकी गई है।
नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री ओ.पी. रावत ने बताया कि इन चार परियोजनाओं की सैद्धांतिक सहमति वृहद परियोजनाओं के निर्माण में महत्वपूर्ण कदम है। इन परियोजनाओं के विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन शीघ्र तैयार किये जायेंगे। श्री रावत ने बताया कि प्राधिकरण ने परियोजनाओं के अनुमोदन, निर्माण और परियोजना लाभ को केन्द्रित कर बहुआयामी रणनीति लागू की है। लक्ष्य है मध्यप्रदेश को आवंटित जल के उपयोग को वर्ष 2020 तक सुनिश्चित करना।