Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
लूट करने वाले संदिग्धों के ठिकानों पर करें छापामारी-मंत्री गौर अंग्रेजी, गणित और विज्ञान की विशेष कक्षा लगाने के निर्देश महाविद्यालयों में "रेड-रिबन क्लब" और "युवा रेडक्रास" को सक्रिय करें ग्राम सभा में दो अक्टूबर को होगा प्रारूप मतदाता सूची का वाचन मध्यप्रदेश के समग्र की देश भर में धूम प्रदेश में 331.86 करोड़ की 4 औद्योगिक परियोजना मंजूर श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी अनुकम्पा नियुक्ति के प्रावधान में संशोधन सीट बंटवारे पर पुनर्विचार करें और लचीला रुख अपनाएं उद्धव ठाकरे: अमित शाह मुस्लिमों की प्रशंसा के लिए शिवसेना ने मोदी का समर्थन किया गंगा से पहले होगी यमुना की सफाई, फार्मूला तैयार: उमा भारती न्यूयार्क में प्रधानमंत्री मोदी के साथ नहीं होगी नवाज की बैठक पहली नवम्बर तक व्यापक समयबद्ध कार्य योजना बनाएं-मंत्री मेनका गांधी रेल मंत्रालय को इंदिरा गांधी राजभाषा पुरस्‍कार लेखकों और कलाकारों ने राष्‍ट्रपति से मुलाकात की विकास के लिए सुरक्षा सबसे पहली जरूरत है-केन्‍द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह आधुनिक तकनीकों के उपयोग के साथ निर्माण कार्यों की गुणवत्ता जरूरी-भार्गव संस्कृत शालाओं में संस्कृत के शिक्षक पदस्थ होंगे-मंत्री पारस जैन हरियाणा के राज्यपाल सोलंकी के नगर आगमन पर अभिनंदन इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियाँ अंतिम चरण में प्रदेश में गुंडे-लुटेरों के आये अच्छे दिन-धनोपिया मप्र पावर मैनेजमेंट कंपनी द्वारा अवैध रूप से कमीशन का भुगतान-यादव सेना द्वारा जम्मू-कश्मीर की अवाम को राहत और सुरक्षा प्रदान कार्य सराहनीय नगरीय विकास की उपलब्धियां जन जन तक पहुंचे-विनोद गोटिया मप्र मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में मंत्रि-परिषद् की बैठक में कई निर्णय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सीएनएन के फरीद जकारिया को इंटरव्यू दिया Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

मध्यप्रदेश की आईटी नीति में संशोधन-मंत्री विजयवर्गीय

MP POST:-13-03-2012
भोपाल।मध्यप्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश को आकर्षित करने के उद्देश्य से सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी नीति 2006 जारी की थी। इस नीति के प्रावधान में आज से आंशिक संशोधन किया गया है। इस संबंध में राज्य के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने राज्य विधानसभा में मंगलवार 13 मार्च 2012 को सूचना प्रौद्योगिकी नीति 2006 में संशोधन के संबंध में वक्तव्य दिया।
आईटी मंत्री श्री विजयवर्गीय ने विधानसभा में कांग्रेस द्वारा किये जा रहे भारी शोरगुल के बीच सदन को अवगत कराया कि मध्यप्रदेश सूचना प्रौद्योगिकी नीति 2006 में आईटी कम्पनियों को भूमि आवंटन की स्थिति में विकसित क्षेत्र पर प्रति एकड़ न्यूनतम 350 व्यक्तियों को रोजगार देने की अनिवार्यता को शिथिल करते हुए इसे न्यूनतम 100 इंजीनियर्स, आईटी, आईटीईएस प्रोफेशनल्स प्रति एकड़ किया जा रहा है।
उन्होंने सदन को बताया कि वर्तमान में शासन निर्देशों के अनुसार नैस्कॉम सूची में दर्ज शीर्ष कम्पनियों को छोड़कर शेष आईटी कम्पनियों को भूमि आवंटन की स्थिति में भूमि के बाजार मूल्य एवं कम्पनी के लिए निर्धारित रियायती मूल्य के अंतर की राशि की बैंक गारंटी के लिये जाने का प्रावधान है। उक्त प्रावधान को शिथिल करते हुए अब आईटी कम्पनियों से बैंक गारंटी प्राप्त करने की अनिवार्यता को समाप्त किया जा रहा है। कंपनी द्वारा भूमि के संभावित दुरूपयोग को रोकने के लिए लीज डीड में समुचित प्रावधान किये जायेगें।