Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
आर के धोवन बने नए नौसेना प्रमुख मतदाता वाकई ‘उल्लू’ नहीं हैं- अरुण जेटली शाह ने आचार संहिता का उल्लंन नहीं किया- भाजपा दूरसंचार कंपनियों के खातों का ऑडिट कर सकता है सीएजी- सुप्रीम कोर्ट मुझे मोदी से नहीं, बल्कि उनके इरादों से लगता है डर- फारूक राहुल गांधी के रोड शो ने बढ़ाई एसपीजी की मुश्किलें मप्र में दूसरे चरण की 10 सीटों के लिए 2 बजे तक 30% मतदान सोनिया का पीएम पद से इंकार त्याग नहीं, धोखा था- शिवराज सुषमा स्वराज ने भोपाल में किया मतदान मप्र में दूसरे चरण की 10 सीटों के लिए 3 बजे तक 45% वोटिंग मोदी 'आदतन झूठे' और 'एनकाउंटर चीफ मिनिस्टर- चिदंबरम राज्यपाल श्री यादव ने मतदान किया उज्जैन कमिश्नर की पदस्थापना के आदेश जारी मुख्य सचिव श्री डिसा ने किया मतदान दिखावा है मोदी का ‘मुस्लिम प्रेम’- अखिलेश श्री आडवाणी 19 अप्रैल को बडवानी और रतलाम संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण मतदान में कांग्रेस हताशा और अवसाद में पहुंची मतदान के प्रति बढ़ते रूझान ने परिवर्तन की दिशा निर्धारित की- श्री तोमर कांग्रेस ने विश्व बिरादरी में भारत का सिर झुकाया- शिवराज भारत को मजबूत स्थिर सरकार और सशक्त नेतृत्व की दरकार- शिवराज बीजेपी ने की कांग्रेस घोषणा पत्र की नकल- राहुल लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के लिए अधिसूचना जारी अगर मोदी पीएम बने तो देश सांप्रदायिक दंगों की चपेट में आ जाएगा- मायावती राहुल ने किया है अमेठी के साथ मजाक- स्मृति हर हाल में मोदी ही प्रधानमंत्री बनेंगे- राजनाथ मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जयदीप गोविन्द ने किया मतदान पांचवें चरण में भारी मतदान, कई दिग्‍गजों की किस्‍मत ईवीएम में बंद मध्यप्रदेश में दूसरे चरण के लोकसभा चुनाव में 54.41 प्रतिशत मतदान 10 संसदीय क्षेत्र में मतदान के प्रति मतदाताओं ने दिखाया उत्साह आयोग ने भाजपा नेता अमित शाह की रैलियों से हटाई पाबंदी पवार की धमकी; सुप्रिया को वोट नहीं दिया तो नहीं मिलेगा पानी काशी में केजरीवाल का जबर्दस्त विरोध यूपी में कांग्रेस का खाता नहीं खुलेगा- नरेंद्र मोदी मथुरा के 40 बूथों की इंटरनेट पर लाइव पोलिंग लता मंगेशकर ने की मोदी की तारीफ, बताया-बहुत अच्छा इंसान पीएमओ ने किया मनमोहन सिंह का बचाव `गांधी` कनेक्शन ने रॉबर्ट वाड्रा को बनाया अरबपति- वॉल स्ट्रीट जर्नल पिछले दशक में सीबीआई की विश्वसनीयता घटी- जेटली मनसे यूपी, बिहार की पार्टियों की तरह नहीं- राज ठाकरे आडवाणी 19 अप्रैल को बडवानी और रतलाम संसदीय क्षेत्र में सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी जनता को भ्रमित करना बंद करें- विश्वास सारंग मालवा निमाड़ भाजपा का गढ़ है, मिशन 29 सफल होना सुनिश्चित है-मेनन न रेल आयी न पटरी आदिवासियों से बेईमानी करती है कांग्रेस - शिवराज भारतीय जनता पार्टी वादों पर खरी उतरी है- शिवराज 300 सांसदों के सहारे से भाजपा गहरे गढ्ढे से देश को निकालकर .. मप्र के 20 जिलों में वितरित होंगी मतदाता पर्ची 19 अप्रैल तक ई-पेपर में प्रकाशित राजनैतिक विज्ञापन की पूर्व अनुमति आवश्यक बीजेपी को अन्नाद्रमुक के समर्थन की जरूरत नहीं होगी- राजनाथ गुजरात लूटने में लगे हैं मोदी- सिब्बल स्थानीय निकायों के निर्वाचन में ई.व्ही.एम. का उपयोग होगा दस संसदीय क्षेत्र में महिला-पुरूषों का मतदान प्रतिशत बढ़ा राज्यपाल द्वारा अमर शहीद तात्या टोपे के प्रति विनम्र श्रद्धांजलि अंतर्राष्ट्रीय दल ने भारत की निर्वाचन प्रक्रिया को सराहा राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री परशुराम ने की तैयारियों की समीक्षा भाजपा कुर्सी के लिए सभी हदें पार कर रही- सोनिया चुनाव बाद कांग्रेस का देश और प्रदेश में कोई भविष्य नहीं- अनंत कुमार Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

मध्यप्रदेश की आईटी नीति में संशोधन-मंत्री विजयवर्गीय

MP POST:-13-03-2012
भोपाल।मध्यप्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश को आकर्षित करने के उद्देश्य से सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी नीति 2006 जारी की थी। इस नीति के प्रावधान में आज से आंशिक संशोधन किया गया है। इस संबंध में राज्य के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने राज्य विधानसभा में मंगलवार 13 मार्च 2012 को सूचना प्रौद्योगिकी नीति 2006 में संशोधन के संबंध में वक्तव्य दिया।
आईटी मंत्री श्री विजयवर्गीय ने विधानसभा में कांग्रेस द्वारा किये जा रहे भारी शोरगुल के बीच सदन को अवगत कराया कि मध्यप्रदेश सूचना प्रौद्योगिकी नीति 2006 में आईटी कम्पनियों को भूमि आवंटन की स्थिति में विकसित क्षेत्र पर प्रति एकड़ न्यूनतम 350 व्यक्तियों को रोजगार देने की अनिवार्यता को शिथिल करते हुए इसे न्यूनतम 100 इंजीनियर्स, आईटी, आईटीईएस प्रोफेशनल्स प्रति एकड़ किया जा रहा है।
उन्होंने सदन को बताया कि वर्तमान में शासन निर्देशों के अनुसार नैस्कॉम सूची में दर्ज शीर्ष कम्पनियों को छोड़कर शेष आईटी कम्पनियों को भूमि आवंटन की स्थिति में भूमि के बाजार मूल्य एवं कम्पनी के लिए निर्धारित रियायती मूल्य के अंतर की राशि की बैंक गारंटी के लिये जाने का प्रावधान है। उक्त प्रावधान को शिथिल करते हुए अब आईटी कम्पनियों से बैंक गारंटी प्राप्त करने की अनिवार्यता को समाप्त किया जा रहा है। कंपनी द्वारा भूमि के संभावित दुरूपयोग को रोकने के लिए लीज डीड में समुचित प्रावधान किये जायेगें।