Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
मोदी सरकार के आम बजट में जनता की जिन्दगी को बेहतर बनानें का लक्ष्य आम बजट में हर वर्ग का खासा ध्यान- श्री रघुनंदन शर्मा बजट को गरीब, किसान, मजदूर, महिलाओं और युवाओं पर केन्द्रित व्यापम पीआरटी परीक्षा 01 मार्च को पल्स पोलियो अभियान आज. पीडीएस में त्यौहार के कारण मिलेगी एक किलो अतिरिक्त शक्कर समाधान आन लाईन कार्यक्रम 3 मार्च को अस्थाई डिपो पर मिलेगी होलिका दहन की लकड़ी रविवार को आर.आई. पल्स पोलियो अभियान जिला पंचायत सदस्यों का परिणाम घोषित मोदी सरकार का पहला बजट सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी मंत्री ने दी 10वीं-12वीं के परीक्षार्थियों को शुभकामनाएँ एक करोड़ से अधिक बच्चों को पिलाई जायेगी पोलियो दवा देश की आर्थिक व्यवस्था तथा हर क्षेत्र के विकास को मजबूत करने वाला बजट मतदाताओं के नाम आज से आधार लिंक होंगे विज्ञान को बढ़ावा और डिजिटल इंडिया निर्माण में मध्यप्रदेश रहेगा आगे संतुलित, विकास, जनोन्मुखी और राज्यों को मजबूत बनाने वाला बजट बजट निराशाजनक और उसमें स्पष्ट योजना का अभाव : मनमोहन 'बजट से गरीबों व किसानों को मदद मिलेगी, वृद्धि दर बढ़ेगी' सरकार गरीबों की हमदर्द और उद्योग की हितैषी : जेटली आम बजट 2015-16: इनकम टैक्‍स में कोई बदलाव नहीं वाम दलों ने बजट को ‘अमीर हितैषी और गरीब विरोधी ’ करार दिया संगठित होकर आवाज उठाओ, सरकार ना माने तो उसे गिरा दो: अन्ना बजट में केवल कंपनियों, आयकरदाताओं पर जोर: चिदंबरम बांड बाजारों को शेयर बाजारों की तरह विकसित किया जाएगा: जेटली मोदी ने बजट को व्यवहारिक और वृद्धि को नई जान देने वाला बताया आईटी मंत्री के मुख्यातिथ्य में देवलिया की स्मृति में व्याख्यानमाला 3 को Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

कल खुलेगा रेल बजट का पिटारा

MP POST:-13-03-2012
नई दिल्ली। रेल बजट को आने में अब महज चौबीस घंटे बचे हैं। मंगलवार को केंद्रीय रेल मंत्री सदन में रेल बजट पेश करेंगे। वहीं रेल बजट को लेकर कई तरह के कयास भी लगाए जा रहे हैं। इस रेल बजट में बुलेट ट्रेन चलाने जैसे प्रावधानों के होने की उम्मीद जताई जा रही है। उम्मीद यह भी है कि कई जगहों पर डबल डेकर ट्रेन देखने को मिल जाएं। वहीं रेल सुरक्षा को लेकर भी सभी को काफी उम्मीदें हैं। वहीं नजरें रेलवे के मालभाडे़ पर और किराए पर भी टिकी हैं।
रेल बजट से पूर्व में आई सैम पित्रोदा कमेटी की रिपोर्ट में रेल सुरक्षा को लेकर कई चिंताएं जताई गई हैं। रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि यदि रेलवे ने सुरक्षा नियमों में अनदेखी की तो भारतीय रेल और अधिक घाटे में चली जाएगी जिसका खामियाजा सरकार को भुगतना होगा। तृणमूल कांग्रेस को भी इस रेल बजट से काफी उम्मीदें जुड़ी हैं। उम्मीद यह भी है कि रेल मंत्री उत्तर पूर्व के लिए कुछ पेशकश भी कर सकते हैं।
सैम कमेटी की रिपोर्ट में न सिर्फ रेल की सुरक्षा को बढ़ाने पर जोर दिया गया है वहीं रिपोर्ट में रेलवे के आधुनिकीकरण को भी तेज करने पर जोर दिया गया है। रिपोर्ट में करीब बीस हजार किलोमीटर रेलवे लाईन के साथ-साथ कई रेलवे क्रासिंग को भी अपग्रेड करने पर जोर दिया गया है। रिपोर्ट में रेल में बढ़ रहे आपराधिक मामलों को रोकने के लिए रेलवे पुलिस फोर्स के आधुनिकीकरण की जोरदार वकालत की गई है।
रेल से सफर करने वाले यात्रियों की नजरें रेल के आधुनिकीकरण के साथ मिलने वाली सुविधा को बढ़ाने पर भी टिकी हैं। इस रेल बजट में स्टेशनों और रेल की साफ सफाई पर भी ध्यान दिए जाने की पूरी उम्मीद है।