Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
वीरांगनाएँ तैयार हो रही हैं मध्यप्रदेश में जन-जातीय गीतों के संरक्षण के लिये स्वर-लिपियाँ हुई तैयार श्रीमती सिंधिया गुरूवार को ग्वालियर औद्योगिक क्षेत्रों का दौरा करेंगी पर्यावरण को संतुलित बनाने के लिये हरियाली महोत्सव को सफल बनायें मप्र में सरकार और लोगों के बीच अब महज एक कॉल का फासला PM से मित्‍सुबिसी के अध्‍यक्ष एवं मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी ने मुलाकात की सिक्किम के राज्‍यपाल ने प्रधानमंत्री से भेंट की राष्‍ट्रपति ने राष्‍ट्रमंडल खेलों के पदक विजेताओं को बधाई दी नेता प्रतिपक्ष मामले में फैसला अगले चार दिनों में: सुमित्रा मुख्य सचिव दोपहर डेढ़ बजे से आमजन से मिलेंगे हरियाली महोत्सव को जन-आंदोलन बनायें सुषमा स्वराज 1 व 2 अगस्त को भोपाल एवं विदिशा प्रवास पर श्री मोदी ने विकसित देशों को आकर्षित कर भारत का सम्मान बढ़ाया डॉ. गौरीशंकर शेजवार ने प्रकाश जावड़ेकर से भेंट की अभिहीत कर्मचारियों को ई वी एम की दी गई ट्रेनिंग जदयू, राजद और कांग्रेस ने बिहार में की गठबंधन की घोषणा राधा मोहन सिंह: कृषि विकास के दो स्तंभ कृषि अनुसंधान एवं शैक्षणिक संस्थान मुख्यमंत्री श्री चौहान सी.एम. हेल्पलाइन-181 का शुभारंभ करेंगे मध्यप्रदेश में स्थापित होगा मंदिर प्रबंध संस्थान सेब पर आयात शुल्‍क में वृद्धि नहीं :निर्मला सीतारमन 16वीं लोकसभा: PM सामाजिक कार्यकर्ता तो राहुल गांधी हैं रणनीतिक परामर्शक Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

कल खुलेगा रेल बजट का पिटारा

MP POST:-13-03-2012
नई दिल्ली। रेल बजट को आने में अब महज चौबीस घंटे बचे हैं। मंगलवार को केंद्रीय रेल मंत्री सदन में रेल बजट पेश करेंगे। वहीं रेल बजट को लेकर कई तरह के कयास भी लगाए जा रहे हैं। इस रेल बजट में बुलेट ट्रेन चलाने जैसे प्रावधानों के होने की उम्मीद जताई जा रही है। उम्मीद यह भी है कि कई जगहों पर डबल डेकर ट्रेन देखने को मिल जाएं। वहीं रेल सुरक्षा को लेकर भी सभी को काफी उम्मीदें हैं। वहीं नजरें रेलवे के मालभाडे़ पर और किराए पर भी टिकी हैं।
रेल बजट से पूर्व में आई सैम पित्रोदा कमेटी की रिपोर्ट में रेल सुरक्षा को लेकर कई चिंताएं जताई गई हैं। रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि यदि रेलवे ने सुरक्षा नियमों में अनदेखी की तो भारतीय रेल और अधिक घाटे में चली जाएगी जिसका खामियाजा सरकार को भुगतना होगा। तृणमूल कांग्रेस को भी इस रेल बजट से काफी उम्मीदें जुड़ी हैं। उम्मीद यह भी है कि रेल मंत्री उत्तर पूर्व के लिए कुछ पेशकश भी कर सकते हैं।
सैम कमेटी की रिपोर्ट में न सिर्फ रेल की सुरक्षा को बढ़ाने पर जोर दिया गया है वहीं रिपोर्ट में रेलवे के आधुनिकीकरण को भी तेज करने पर जोर दिया गया है। रिपोर्ट में करीब बीस हजार किलोमीटर रेलवे लाईन के साथ-साथ कई रेलवे क्रासिंग को भी अपग्रेड करने पर जोर दिया गया है। रिपोर्ट में रेल में बढ़ रहे आपराधिक मामलों को रोकने के लिए रेलवे पुलिस फोर्स के आधुनिकीकरण की जोरदार वकालत की गई है।
रेल से सफर करने वाले यात्रियों की नजरें रेल के आधुनिकीकरण के साथ मिलने वाली सुविधा को बढ़ाने पर भी टिकी हैं। इस रेल बजट में स्टेशनों और रेल की साफ सफाई पर भी ध्यान दिए जाने की पूरी उम्मीद है।