Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
10 संसदीय क्षेत्र में मतदान के प्रति मतदाताओं ने दिखाया उत्साह आयोग ने भाजपा नेता अमित शाह की रैलियों से हटाई पाबंदी पवार की धमकी; सुप्रिया को वोट नहीं दिया तो नहीं मिलेगा पानी काशी में केजरीवाल का जबर्दस्त विरोध यूपी में कांग्रेस का खाता नहीं खुलेगा- नरेंद्र मोदी मथुरा के 40 बूथों की इंटरनेट पर लाइव पोलिंग लता मंगेशकर ने की मोदी की तारीफ, बताया-बहुत अच्छा इंसान पीएमओ ने किया मनमोहन सिंह का बचाव `गांधी` कनेक्शन ने रॉबर्ट वाड्रा को बनाया अरबपति- वॉल स्ट्रीट जर्नल पिछले दशक में सीबीआई की विश्वसनीयता घटी- जेटली मनसे यूपी, बिहार की पार्टियों की तरह नहीं- राज ठाकरे आडवाणी 19 अप्रैल को बडवानी और रतलाम संसदीय क्षेत्र में सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी जनता को भ्रमित करना बंद करें- विश्वास सारंग मालवा निमाड़ भाजपा का गढ़ है, मिशन 29 सफल होना सुनिश्चित है-मेनन न रेल आयी न पटरी आदिवासियों से बेईमानी करती है कांग्रेस - शिवराज भारतीय जनता पार्टी वादों पर खरी उतरी है- शिवराज 300 सांसदों के सहारे से भाजपा गहरे गढ्ढे से देश को निकालकर .. मप्र के 20 जिलों में वितरित होंगी मतदाता पर्ची 19 अप्रैल तक ई-पेपर में प्रकाशित राजनैतिक विज्ञापन की पूर्व अनुमति आवश्यक बीजेपी को अन्नाद्रमुक के समर्थन की जरूरत नहीं होगी- राजनाथ गुजरात लूटने में लगे हैं मोदी- सिब्बल स्थानीय निकायों के निर्वाचन में ई.व्ही.एम. का उपयोग होगा दस संसदीय क्षेत्र में महिला-पुरूषों का मतदान प्रतिशत बढ़ा राज्यपाल द्वारा अमर शहीद तात्या टोपे के प्रति विनम्र श्रद्धांजलि अंतर्राष्ट्रीय दल ने भारत की निर्वाचन प्रक्रिया को सराहा राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री परशुराम ने की तैयारियों की समीक्षा भाजपा कुर्सी के लिए सभी हदें पार कर रही- सोनिया चुनाव बाद कांग्रेस का देश और प्रदेश में कोई भविष्य नहीं- अनंत कुमार एनसीपी-शिवसेना गठबंधन के लिए सहमत थे पवार- जोशी 24 अप्रैल को काशी से पर्चा भरेंगे नरेंद्र मोदी अमित शाह बोले, हथियारों के खरीद-फरोख्त में शामिल हैं अजय राय, जांच हो प्रियंका राजनीति में आने के लिए स्वतंत्र- राहुल राहुल का दृष्टिकोण ‘गुब्बारे और टॉफी’ तक ही सीमित- रमन नीतियां हों ऐसी कि दुश्मन हमारे सैनिकों का सर काटने की हिम्मत न कर सके ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ में जगह पाने के लिए वाड्रा को बधाई- जेटली प्रदेश अध्यक्ष श्री नरेन्द्रसिंह तोमर 20 अपै्रल को प्रवास पर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान 20 अप्रैल को प्रवास पर बंशीलाल गुर्जर मंदसौर संसदीय क्षेत्र के सहपालक मनोनीत केन्द्र में श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनने की समृद्ध, संपन्न, शक्तिशाली भारत बनाने के लिए श्री मोदी के नेतृत्व में कार्यकर्ता मतदान केंद्र को कांग्रेस मुक्त बनायें- अनंत कुमार 21वीं शताब्दी भारत की होगी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में- आडवाणी इलेक्टोरल रोल सर्च से मिलेगी मतदान केन्द्रों की जानकारी बिहार के लोगों के डीएनए में जातिवाद- गडकरी यूपीए सरकार को पीछे से चलाने की कीमत सोनिया-राहुल को चुकानी होगी मतदान को प्रभावित करने पर ग्वालियर में तीन के विरूद्ध एफआईआर मध्यप्रदेश में तीसरे चरण के 10 संसदीय क्षेत्र के सामान्य प्रेक्षक गिलानी के दावों पर भाजपा सख्त, कहा- गिलानी नाम बताएं या माफी मांगें मध्यप्रदेश में 24 अप्रैल से ग्राम सभाओं का चरणबद्ध आयोजन सोनिया ने अमेठी में राहुल के लिए की भावुक अपील राज्यपाल द्वारा प्रथम राष्ट्रीय इनफर्टिलिटी कान्फ्रेंस का उदघाटन जनता की अदालत के आरोपी डॉ. मनमोहन सिंह फरार- अनंत कुमार लायसेंस धारकों से जमा हुए 2.57 लाख शस्त्र एक लाख 34 हजार से अधिक पोस्टर, बेनर, होर्डिंग हटे योग शिविरों की अनुमति से पहले संस्थाओं की छानबीन के निर्देश भारत को बांट रहे हैं भाजपा और मोदी- राहुल गांधी पहले और दूसरे चरण में शहरी क्षेत्र में मतदान प्रतिशत बढ़ा Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

महंगाई दर और कम होने की आस- प्रणब

MP POST:-16-03-2012
वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को विश्वास व्यक्त किया कि अगले कुछ महीनों में महंगाई दर और कम होगी और उसके बाद स्थिर हो जाएगी।मुखर्जी ने लोकसभा में आम बजट पेश करते हुए कहा कि समग्र मुद्रास्फीति वर्ष में अधिकांशतया उंची बनी रही। केवल दिसंबर 2011 में जाकर यह कुछ कम होकर 8.3 प्रतिशत तक आई और जनवरी 2012 में 6.6 प्रतिशत रह गई। उन्होंने कहा कि मासिक खाद्य मुद्रास्फीति फरवरी 2010 में 20.2 प्रतिशत थी जो कम होकर मार्च 2011 में 9.4 प्रतिशत रह गई और जनवरी 2012 में यह ऋणात्मक हो गई।
मुखर्जी ने कहा कि यद्यपि फरवरी 2012 की मुद्रास्फीति के आंकडे मामूली रूप से बढे हैं, मुझे आशा है कि अगले कुछ महीनों में समग्र मुद्रास्फीति और कम होगी और उसके बाद स्थिर हो जाएगी।
उन्होंने कहा कि भारत की मुद्रास्फीति मुख्य रूप से कषि संबंधी आपूर्ति की अडचनों और वैश्विक लागत में बढोतरी से प्रभावित होती है। सौभाग्यवश खाद्य आपूर्ति प्रणालियों को सुढृढ करने हेतु वितरण, भंडारण और विपणन व्यवस्था की खामियों को दूर करने के लिए उठाये गये कदमों ने हमें मुद्रास्फीति के अधिक कारगर प्रबंधन में सहायता की है और इससे खाद्य मुद्रास्फीति में गिरावट आई है।