Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
अयोध्या नगर का सरयू सरोवर बनेगा बोट-क्लब जैसा पर्यटन केन्द्र स्वास्थ्य केन्द्रों के निर्माण एवं रिनोवेशन के लिये 40 करोड़ मंजूर मध्यप्रदेश में निर्माण श्रमिकों को मिली 400 करोड़ की सहायता प्रदेश में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 3 नवम्बर से नाम निर्देशन-पत्र के साथ देनी होगी आपराधिक पृष्ठभूमि की जानकारी प्रधानमंत्री ने भाई दूज के मंगल अवसर पर राष्ट्र को बधाई दी दिवाली मिलन कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों और संपादकों से मिले पीएम मोदी झारखंड और जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान राज्य में पेंटावेलेंट वैक्सीन करेगी नवजात शिशुओं की जीवन रक्षा मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गृह ग्राम जैत में की जन-सुनवाई राष्ट्रपति ने अनगरिका धर्मापाला पर स्मारक डाक टिकट जारी किया भोपाल में खुलेगा स्टेट एकेडेमिक स्टॉफ कॉलेज प्रधानमंत्री ने रिलायंस फाउंडेशन के अस्पताल का उद्घाटन किया स्मारक डाक टिकट जारी करने के अवसर पर राष्ट्रपति का संबोधन Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

महंगाई दर और कम होने की आस- प्रणब

MP POST:-16-03-2012
वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को विश्वास व्यक्त किया कि अगले कुछ महीनों में महंगाई दर और कम होगी और उसके बाद स्थिर हो जाएगी।मुखर्जी ने लोकसभा में आम बजट पेश करते हुए कहा कि समग्र मुद्रास्फीति वर्ष में अधिकांशतया उंची बनी रही। केवल दिसंबर 2011 में जाकर यह कुछ कम होकर 8.3 प्रतिशत तक आई और जनवरी 2012 में 6.6 प्रतिशत रह गई। उन्होंने कहा कि मासिक खाद्य मुद्रास्फीति फरवरी 2010 में 20.2 प्रतिशत थी जो कम होकर मार्च 2011 में 9.4 प्रतिशत रह गई और जनवरी 2012 में यह ऋणात्मक हो गई।
मुखर्जी ने कहा कि यद्यपि फरवरी 2012 की मुद्रास्फीति के आंकडे मामूली रूप से बढे हैं, मुझे आशा है कि अगले कुछ महीनों में समग्र मुद्रास्फीति और कम होगी और उसके बाद स्थिर हो जाएगी।
उन्होंने कहा कि भारत की मुद्रास्फीति मुख्य रूप से कषि संबंधी आपूर्ति की अडचनों और वैश्विक लागत में बढोतरी से प्रभावित होती है। सौभाग्यवश खाद्य आपूर्ति प्रणालियों को सुढृढ करने हेतु वितरण, भंडारण और विपणन व्यवस्था की खामियों को दूर करने के लिए उठाये गये कदमों ने हमें मुद्रास्फीति के अधिक कारगर प्रबंधन में सहायता की है और इससे खाद्य मुद्रास्फीति में गिरावट आई है।