Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
प्रधानमंत्री ने बहादुर आईटीबीपी कार्मिकों को सलाम किया प्रदेश की सभी विद्युत कंपनियों के कर्मियों को 7 प्रतिशत महँगाई भत्ता गृहमंत्री राजनाथ सिंह अगले माह चार दिनी यात्रा पर इजरायल जाएंगे प्रधानमंत्री ने संयुक्‍त राष्‍ट्र दिवस पर बधाई दी गोवर्धन पूजा के माध्यम से पर्यावरण को बचाने का संदेश आज भी प्रासंगिक 31 अक्टूबर को राष्‍ट्रीय एकता दिवस के तौर पर मनाने का फैसला निजी निवेशकों को आई.टी.आई. स्थापित करने पर मिलेगा 3 करोड़ का अनुदान महिलाओं को शौर्य शस्त्र दिये जाऐंगे: श्री गौर श्री नायडू ने आंध्र प्रदेश के एक गांव को पुनर्वास के लिए गोद लिया ग्लोबल टेलेंट पूल को संस्थागत स्वरूप दिया जायेगा रोशनी पर्व के तीन दिन गत वर्ष की तुलना में ज्यादा बिजली आपूर्ति राज्यपाल को मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दीपावली की बधाई दी डॉ. हर्षवर्धन ने पोलियो उन्मूलन में पाकिस्तान को सहयोग की पेशकश की अयोध्या नगर का सरयू सरोवर बनेगा बोट-क्लब जैसा पर्यटन केन्द्र स्वास्थ्य केन्द्रों के निर्माण एवं रिनोवेशन के लिये 40 करोड़ मंजूर मध्यप्रदेश में निर्माण श्रमिकों को मिली 400 करोड़ की सहायता प्रदेश में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 3 नवम्बर से नाम निर्देशन-पत्र के साथ देनी होगी आपराधिक पृष्ठभूमि की जानकारी प्रधानमंत्री ने भाई दूज के मंगल अवसर पर राष्ट्र को बधाई दी दिवाली मिलन कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों और संपादकों से मिले पीएम मोदी झारखंड और जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान राज्य में पेंटावेलेंट वैक्सीन करेगी नवजात शिशुओं की जीवन रक्षा मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गृह ग्राम जैत में की जन-सुनवाई राष्ट्रपति ने अनगरिका धर्मापाला पर स्मारक डाक टिकट जारी किया भोपाल में खुलेगा स्टेट एकेडेमिक स्टॉफ कॉलेज प्रधानमंत्री ने रिलायंस फाउंडेशन के अस्पताल का उद्घाटन किया स्मारक डाक टिकट जारी करने के अवसर पर राष्ट्रपति का संबोधन Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

साल के अंत तक लागू होगा खाद्य सुरक्षा कानून

MP POST:-21-03-2012
नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून साल के अंत तक लागू करने की योजना है।
खाद्य मंत्री के वी थॉमस ने यस बैंक और हिंदू बिजनेस लाईन द्वारा आयोजित एक समारोह में कहा हम दिसंबर 2012 के अंत तक खाद्य सुरक्षा विधेयक लागू करना चाहते हैं। संप्रग सरकार इस कार्यक्रम के तहत 63.5 फीसद आबादी को रियायती दर पर अनाज उपलब्ध कराने की व्यवस्था करना चाहती है।
थॉमस ने कहा कि कानून लागू करने के बाद सब्सिडी का बोझ बढकर 1.12 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा। सरकार 3,000 से 4,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी बर्दाश्त कर सकती है। चालू वित्त वर्ष के लिए खाद्य सब्सिडी करीब 88,000 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। खाद्य सुरक्षा विधेयक के तहत 6.3 करोड़ टन अनाज की जरूरत होगी।