Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
पाकिस्तान ने आतंकवाद से लड़ने की प्रतिबद्धता का बनाया मजाक: भारत बांग्लादेश के राष्ट्रपति से मिले पीएम मोदी यूजीसी का निर्देश, विवि भी क्रिसमस पर मनाएं सुशासन दिवस 2021 तक हिंदू राष्ट्र होगा भारत: राजेश्वर सिंह प्रधानमंत्री ने गांधीवादी चुनीभाई वैद्य के निधन पर शोक व्यक्त किया प्रधानमंत्री ने गोवा मुक्ति दिवस पर गोवा के लोगों को शुभकामनाएं दी पर्यावरण,वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की उच्चस्तरीय समितिकी रिपोर्ट झारखंड में अंतिम चरण का मतदान शनिवार को अपराधों पर काबू पाने केलिए भारत-मंगोलिया को सहयोग बढ़ाने की जरूरत प्रदेश को आगे बढ़ाने पूरी क्षमता से करें काम - श्री चौहान बैरागढ़ के स्थान पर संत हिरदाराम नगर का होगा अधिक उपयोग महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री फड़णवीस आज भोपाल आयेंगे संवीक्षा के बाद अभ्यर्थी एक जनवरी तक नाम वापस ले सकेंगे मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना में 110 के उपचार की प्रक्रिया प्रारंभ शालाओं में विद्युत व्यवस्था दुरुस्त करने और सुरक्षा उपाय के निर्देश छिन्दवाड़ा जिले के निर्वाचन चरणों में संशोधन सत्ता में परिवर्तन के कारण भारत से उम्मीदें बढ़ी हैं: भागवत मानव को अंतरिक्ष में भेजने की दिशा में बढ़े भारत के कदम सरकार राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को पाने के प्रति कटिबद्ध पहले सईद से निपटो, शिवसेना ने पाक से कहा मनरेगा को व्यवहारिक बनाया जा रहा है: सरकार मप्र में मुख्यमंत्री ग्रामीण परिवहन सेवा : परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह जिला प्रशासन द्वारा कलियासोत डेम के पास सीमांकन कार्य का अवलोकन आरक्षित सीट पर महिलाओं का बैठना सुनिश्चित हो पीएम मोदी का डिजिटल इंडिया मप्र में साकार : आईटी मंत्री भूपेन्द्र सिंह मप्र में महिलाओं के विरूद्ध अपराधों में जीरो टोलरेंस : गृह मंत्री गौर सुभाष नगर फाटक की बावड़ियों का होगा संरक्षण Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

साल के अंत तक लागू होगा खाद्य सुरक्षा कानून

MP POST:-21-03-2012
नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून साल के अंत तक लागू करने की योजना है।
खाद्य मंत्री के वी थॉमस ने यस बैंक और हिंदू बिजनेस लाईन द्वारा आयोजित एक समारोह में कहा हम दिसंबर 2012 के अंत तक खाद्य सुरक्षा विधेयक लागू करना चाहते हैं। संप्रग सरकार इस कार्यक्रम के तहत 63.5 फीसद आबादी को रियायती दर पर अनाज उपलब्ध कराने की व्यवस्था करना चाहती है।
थॉमस ने कहा कि कानून लागू करने के बाद सब्सिडी का बोझ बढकर 1.12 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा। सरकार 3,000 से 4,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी बर्दाश्त कर सकती है। चालू वित्त वर्ष के लिए खाद्य सब्सिडी करीब 88,000 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। खाद्य सुरक्षा विधेयक के तहत 6.3 करोड़ टन अनाज की जरूरत होगी।