Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
स्वेच्छानुदान निधि से आर्थिक सहायता 7 अप्रैल से शिविर लगाकर नि:शक्तजनों को कृत्रिम अंग दिये जायेंगे प्राकृतिक आपदा पीड़ित परिवारों को मिलेगा सार्वजनिक वितरण प्रणाली का लाभ 7 अप्रैल से प्रदेश के 15 जिलों में मिशन इन्द्रधनुष शुरू होगा प्रायवेट शालाओं में प्रवेश के लिए आवेदन की तिथि बढ़ी स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री जैन ने किया जिला चिकित्सालय राजगढ़ का निरीक्षण शासकीय योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को मिलना सुनिश्चित करें- ऊर्जा मंत्री 170 अभियोजन अधिकारी पद की जल्द पूर्ति- मंत्री श्री गौर एम.एड., बी.पी.एड. और एम.पी.एड. में होगा ऑनलाइन प्रवेश प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना.. मंत्री श्रीमती सिंधिया ने किया 8वीं रिवर्स-बायर सेलर मीट का शुभारंभ वृद्धजन सम्मान संबंधी मूल्यों की पुनस्थापना जरूरी- मंत्री श्री गौर वाणिज्यिक कर विभाग को वेब रत्न अवार्ड गेहूँ उपार्जन केन्द्रों पर किसानों को परेशानी न हो- मुख्यमंत्री श्री चौहान कृषि विभाग में टॉस्क-फोर्स का गठन गैर अनुदान प्राप्त प्रायवेट स्कूलों के बच्चों की समग्र ID बनवाने के निर्देश आईआरएनएसएस-1डी का प्रक्षेपण 28 मार्च को : इसरो प्रमुख पीएम मोदी की फ्रांस, जर्मनी और कनाडा की यात्रा 9 अप्रैल से अन्ना जमीन विधेयक पर नरेंद्र मोदी से करना चाहते हैं बहस कानूनी दायरे के भीतर जाटों के आरक्षण संबंधी मामले का हल ढूंढेंगे : PM उमर ने वार्ता पर दिया जोर, बोले- कश्मीर मुद्दे का समाधान बंदूक से नहीं कांग्रेस का दोबारा खड़ा होना मुश्किल, 'बेचारी' सोनिया को दोष नहीं : हंसराज नीतीश ने पीएम नरेंद्र मोदी से की मुलाकात सागरमाला में 12 स्मार्ट शहर, तटीय आर्थिक क्षेत्र होंगे : गडकरी 27 को भारत रत्न से नवाजे जाएंगे पूर्व PM वाजपेयी गंगा कार्य योजना में नदी के सामाजिक आर्थिक पक्ष का भी ध्‍यान रखा जाएगा मप्र सरकार को ई-गवर्नेंस का भारत सरकार का वेब रत्‍न पुरस्‍कार मिला श्री अटलजी का भारत रत्न से अभिनंदन राष्ट्र की प्रतिभा का सम्मान है प्रायोगिक परीक्षा के अंक जमा करने की अन्तिम तिथि 31 मार्च मिशन इन्द्रधनुष से संबंधित मीडिया वर्कशाप 30 मार्च को स्वास्थ्य संवाद अभियान, 62 लाख घरों तक पहुँचे कार्यकर्ता पहल योजना में 31 तक नहीं जुड़ने वालों को 1 से नहीं मिलेगी सब्सिडी जी एम सी से संबद्ध अस्पताल में हुए 910 ऑपरेशन सर्विस वोटर के नाम मतदाता सूची में 31मार्च तक जुड़ेंगें पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति शत-प्रतिशत वितरण के निर्देश उन्नयन किये गये 150 हाई और हायर सेकेण्डरी स्कूल के लिये नये पद ग्राम पंचायत के समस्त अभिलेख सामग्री पंचायत सचिव के पास अर्थपूर्ण जीवन के लिये भगवान श्रीराम के गुणों को अपनायें दो सौ किलोमीटर यात्रा कर नर्मदा पहुँची बड़वानी मुख्यमंत्री मप्र श्री चौहान ने की प्रधानमंत्री से मुलाकात केन्द्र पोषित योजनाओं पर मुख्य मंत्रियों वाली उप-समिति की प्रथम बैठक देश में स्वास्थ्य बीमा के लिये 54 प्रतिशत लोग स्वयं पहल करते हैं वाजपेयी अंतरराष्ट्रीय शख्सियत: राजनाथ सिंह घरेलू प्राकृतिक गैस होगी सस्ती, एक अप्रैल से 9 प्रतिशत घटेंगे दाम सोनिया ने गडकरी को लिखी चिट्ठी पीएम नरेंद्र मोदी ने अमीरों से कहा- एलपीजी सब्सिडी छोड़ें भारत रत्न से सम्मानित हुए अटल बिहारी वाजपेयी राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति ने रामनवमी पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं भारत के लिए वैश्विक विनिर्माण केंद्र बनने का बेहतर अवसर : जेटली राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने घर पर जाकर दिया सम्मान नीतीश कुमार ने की सोनिया और केजरीवाल से मुलाकात प्रधानमंत्री श्री मोदी से पीपी सिंह, विभागाध्यक्ष माखनलाल की भेंट रिवर्स बायर-सेलर मीट में 1000 करोड़ से अधिक के 85 ईओआई हस्ताक्षरित Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

मिशन दिल्ली: जल्द वादे पूरा करना चाहती है सपा

MP POST:-28-03-2012
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की जीत से उत्साहित सपा की नजर अब दिल्ली फतह पर है, जिसके लिए वह उन सब वादों को पूरा करना चाहती है जो उसने राज्य विधानसभा चुनाव के दौरान जनता से किए थे। जिसके लिए सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव पूरी शिद्दत के साथ जुट गए हैं और वादों को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए प्रदेश सरकार को निर्देश भी दे दिए हैं।
बेटे अखिलेश यादव को उत्तार प्रदेश की गद्दी सौंपकर मुलायम अब केंद्र की राजनीति में बड़ी भूमिका निभाना चाहते हैं। विधानसभा चुनाव से पहले लोगों से किए गए वादों को पूरा कर सपा अध्यक्ष आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी को एक बड़ी ताकत बनाना चाहते हैं। बीते दिनों समाजवादी चिंतक राम मनोहर लोहिया की जयंती पर लखनऊ में उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश से जल्द से जल्द घोषणा पत्र में किए गए वादे पूरे करने के निर्देश दिए थे। मुलायम ने कहा कि घोषणा पत्र के सारे वादे जल्द पूरा करें। घोषणा पत्र की प्रतियां अधिकारियों को दे दें और उनसे अपने विभाग में इसे छह माह में लागू करने के लिए कहे। घोषणा-पत्र के सभी वादे पूरे करने में एक साल से ज्यादा का समय नहीं लगना चाहिए।
जानकारों के मुताबिक प्रदेश सरकार यदि किसानों के लिए पेंशन व बीमा, किसानों तथा बुनकरों को नि:शुल्क बिजली और उनकी कर्जमाफी, सभी को नि:शुल्क दवा एवं शिक्षा, कन्या विद्या धन, छात्रों को लैपटॉप व टैबलेट तथा बेरोजगारी भत्तो जैसे वादों को एक साल के भीतर पूरा कर देती है तो देश में मध्याविध चुनाव की स्थिति में सपा इन्हें जनता के बीच गिनवा सकेगी। आम चुनाव यदि नियत समय पर होते है तो भी पार्टी को जनता के बीच इन्हे ठीक से प्रचारित करने का समय मिल जाएगा।
घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा करने के अलावा मुलायम सिंह लगातार मंत्रियों को अनुशासन में रहने और सादगी बरतने के साथ-साथ ईमानदारी से काम करने की नसीहत दे रहे हैं, ताकि अखिलेश के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार पर कोई दाग न लगे और सरकार के सुशासन के बल पर आगामी चुनाव में उसे जनता का भरपूर समर्थन मिले।
राजनीतिक विश्लेषक एवं लखनऊ विश्वविद्यालय में राजनीति विज्ञान के प्रोफेसर रमेश दीक्षति ने कहा कि मुलायम को पता है कि चुनावी वादे पूरे करने से सपा की जनता के बीच अच्छी छवि बनेगी और लोकसभा चुनाव में पार्टी को इसका फायदा मिलेगा।
उन्होंने कहा कि जनता के बीच अच्छी छवि बनाने के लिए ही मुलायम अब केंद्र में कांग्रेस की अगुवाई वाली संप्रग सरकार में शामिल होने से पीछे हट रहे हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि घोटालों के आरोपों से घिरी संप्रग सरकार में शामिल होने से सपा की छवि भी धूमिल हो सकती है और लोकसभा चुनाव में पार्टी को इसका नुकसान हो सकता है।