Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
युवा मोर्चा सूचना प्रौद्योगिकी का लोक व्यवहार का अनूठा संदेश देगा तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग 2 सितंबर से पचमढ़ी में CM ने बीमारू राज्य का कलंक धोकर विकसित प्रदेश का निर्माण किया- नंदकुमार विदिशा के सुपर स्मार्ट सिटी के रूप में संवरने भाजपा को विजयी बनायें उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा पंचशील नगर में सी.सी. रोड का भूमि-पूजन उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा श्यामनगर में विशेष सफाई अभियान का शुभारंभ प्रदेश में स्टील सायलो की भण्डारण क्षमता 4 लाख मीट्रिक टन हुई किसान बाँस सम्मेलन रायसेन के रतनपुर में 6 अगस्त को पत्रकारों के लिये स्वास्थ्य-दुर्घटना समूह बीमा योजना स्वर्गीय जगन्नाथ सिंह लोकप्रिय जननेता और कुशल प्रशासक थे याकूब के साथ हमदर्दी जताना राष्ट्र के लिये नुकसानदेह : नायडू आपत्तिजनक भाषण मामला: दिल्ली के सीएम केजरीवाल को कोर्ट से राहत जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़ सकती हैं शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी सरकार ने जताई उम्‍मीद- संसद में टूटेगा गतिरोध हिंदुओं के अपने ही देश में आतंक फैलाने की कोई वजह नहीं: शिवसेना सर्वदलीय बैठक बेनतीजा, मंत्रियों के इस्‍तीफे की मांग को लेकर कांग्रेस अडिग सरकार ने 800 से ज्यादा पोर्न साइट्स को ब्लॉक करने के दिए आदेश सांसदों के निलंबन पर सोनिया ने कहा-लोकतंत्र के लिए यह काला दिन प्लेकार्ड लहराने पर लोकसभा में कांग्रेस के 25 सांसद सस्पेंड एनएससीएन (आई-एम)-भारत सरकार के बीच ऐतिहासित शांति समझौता भगवान श्री महाकाल ने जाने प्रजा के हाल जाति प्रमाण पत्र बनाने का काम सर्वोच्च प्राथमिकता से पूरा करें हज के लिये उड़ाने आगामी 6 सितम्बर से शुरू होंगी भाजपा का यू-टर्न, यूपीए के प्रमुख प्रावधानों को वापस लाने पर सहमत अश्लील वेबसाइटों पर प्रतिबंध भारत का ‘तालिबानीकरण’: देवड़ा माइक्रो-इरीगेशन योजना का क्रियान्वयन अब ऑनलाइन मंत्री श्री पटवा द्वारा 50 लाख से अधिक के लागत के निर्माण कार्यों की समीक्षा Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

मुख्यमंत्री ने की लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा

MP POST:-15-05-2012
भोपाल।प्रदेश में नदी, डेम आदि सतही जल-स्त्रोतों पर आधारित समूह जल प्रदाय योजनाओं का क्रियान्वयन जल विकास निगम के माध्यम से किया जायेगा। कम से कम 50 प्रतिशत नलकूप का खनन विभागीय मशीनों से होगा। यह जानकारी आज यहाँ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गयी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा में दी गयी। बताया गया कि सतही जल-स्त्रोतों पर आधारित योजना का प्रस्ताव कैबिनेट की अगली बैठक में प्रस्तुत किया जायेगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि डार्क एरिया, जहाँ पानी की समस्या है, में पेयजल उपलब्ध करवाने पर विशेष ध्यान दिया जाय। पेयजल योजनाएँ आगामी 25 वर्ष की जनसंख्या तथा विकास को ध्यान में रखते हुए बनायी जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि उनके द्वारा की गयी घोषणाओं के अमल में विलम्ब नहीं हो। श्री चौहान ने भू-जल संवर्धन के कार्यों के स्थल निरीक्षण के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि नलकूप खनन के लिये क्षेत्र में भेजी जाने वाली विभागीय मशीनों की निगरानी जी पी एस सिस्टम से की जायेगी। विभागीय योजनाओं का थर्ड पार्टी निरीक्षण तथा मूल्यांकन करवाया जायेगा। इसमें सेवानिवृत्त विभागीय अधिकारी तथा अन्य विभागों के अधिकारियों की सेवाएँ ली जायेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा सिस्टम बनाया जाय जिसमें गड़बड़ी की गुंजाइश ही नहीं रहे। बैठक में जानकारी दी गयी कि बंद पड़ी सभी नल-जल योजनाएँ अभियान चलाकर चालू की जा रही हैं। बीते वित्तीय वर्ष के दौरान इस अभियान में 1100 नल-जल योजनाएँ चालू की गयीं।
बैठक में बताया गया कि प्रदेश के इंटीग्रेटेड एक्शन प्लान वाले नौ जिलों सहित 13 जिलों के 735 ग्राम में इस वर्ष दोहरी सुविधा वाली जल योजना क्रियान्वित की जायेगी। रुपये 38 करोड़ 36 लाख लागत की इन योजनाओं में सब्सिडी उपलब्ध करवाने का प्रस्ताव केन्द्र शासन को भेजा गया है। इन योजनाओं में हैण्ड पम्पों में सोलर पम्प लगाये जायेंगे। जिससे सूर्य की रोशनी के दौरान पम्प से पानी प्राप्त होगा तथा जरूरत पड़ने पर हैण्ड पम्प भी चलाये जा सकेंगे।
बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, मुख्य सचिव श्री आर. परशुराम, प्रमुख सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव श्री अजय नाथ, सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री एस.के. मिश्रा सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।