Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
20 दिन में एक करोड़ LED बल्ब वितरित, 6 करोड़ पहुंची संख्या मोदी सरकार हासिल कर लेगी 2015-16 का राजस्व लक्ष्य: राजस्व सचिव शुल्क छूट वापस लेने पर बोली सरकार, भारतीय दवाएं पहले से ही सस्ती राहुल ने कार्यकर्ताओं से एकजुट होने का किया आह्वान गुंडागर्दी के बल पर चुनाव जीतकर SP ने और खराब की अपनी छवि दिल्ली सचिवालय छापेमारी मसले पर केजरीवाल सरकार को झटका मंत्रालय से 11 अधिकारी - कर्मचारी सेवानिवृत्त गीतांजलि महाविद्यालय में संगोष्ठी 11-12 फरवरी को विद्युत नियामक आयोग द्वारा जन-सुनवाई 12, 16 एवं 19 फरवरी को सोनोग्राफी सेंटरों पर कड़ी निगरानी रखी जाये राज्य रूपंकर कला पुरस्कार घोषित कुमावत, मारू को पिछड़ा वर्ग की मान्यता 12 वन क्षेत्रपाल सहायक वन संरक्षक बने नेशनल डी वर्मिंग डे पर बच्चों को खिलाई गई कृमि नाशक श्री दास करेंगे विदेशों में उपयोगी प्रमाण-पत्रों को अभिप्रमाणित देश में एमपीसीवेट के प्रशिक्षणार्थियों की पहली बार हुई ऑनलाइन परीक्षा ज्ञानार्जन प्रोजेक्ट ने दिलाई मण्डला जिले को राष्ट्रीय पहचान हनुवंतिया टूरिस्ट कॉम्पलेक्स- एक आह्लादकारी अनुभव-शिवराज पांच लाख रुपये से सस्ता मकान उपलब्ध कराएंगे: गडकरी भारत में जीका वायरस का एक भी मामला नहीं पाया गया है : नड्डा जीवित पेंशनरों की पारिवारिक पेंशन के लिये सूचना. नियमित परीक्षार्थियों की प्रायोगिता परीक्षाएं 12 से 27 फरवरी के मध्य होंगी बाल सुरक्षा माह अब 20 फरवरी तक हर हाल में 31 मार्च तक कराएँ पेंशन प्रकरणों का निराकरण सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने पर होगी दण्डात्मक कार्यवाही होगी मदरसा बोर्ड के फार्म संकुल प्राचार्य नियमानुसार प्रस्तुत करें भोपाल टॉकीज से डीआईजी बंगला सड़क पर डिवाइडर लगेंगे मेट्रो रेल का प्रथम चरण 2018 तक क्रियान्वित होगा वासंती बयारों के बीच जल-महोत्सव हनुवंतिया में 12 फरवरी से मैहर उप चुनाव के लिये मतदान 13 फरवरी को अतिथि विद्वानों के मानदेय भुगतान के लिए 5 करोड़ आवंटित उज्जैन में ग्रीन सिंहस्थ की कल्पना को साकार किया जायेगा मुख्य सचिव ने की प्रधानमंत्री श्री मोदी की यात्रा की तैयारियों की समीक्षा रेल बजट में हो सकता है यात्री किरायों में 10% तक इजाफे का ऐलान भारत पर FB अधिकारी की टिप्पणी से जुकरबर्ग ने झाड़ा पल्‍ला डेढ़ साल के उच्चस्तर 28800 रुपए पर पहुंचा सोना SBI का मुनाफा 67% घटा, ब्याज आय मामूली घटी लांस नायक हनुमनथप्पा अमर रहेंगे: PM मोदी असहिष्णुता, स्टार्टअप्स साथ-साथ नहीं चल सकते: राहुल गांधी दिल्ली में अगला ऑड-ईवेन फॉर्मूला 15 से 30 अप्रैल के बीच ग्लोबल मंदी के दौर में भी 7.6 % आर्थिक वृद्धि शानदार उपलब्धि: वित्त मंत्रालय 2030 तक भारत बन जाएगा मलेरिया मुक्त देश : केंद्र सरकार भारतीय हथकरघा ब्रांड ऑनलाइन हुआ वीडियो कान्फ्रेंसिंग 12 फरवरी को स्वस्थ हैं डी वर्मिंग डे पर दवा खाने वाले सभी बच्चे Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
Anonymous Attack Indian Government with severe message
 आमने सामने
  

मुख्यमंत्री ने की लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा

MP POST:-15-05-2012
भोपाल।प्रदेश में नदी, डेम आदि सतही जल-स्त्रोतों पर आधारित समूह जल प्रदाय योजनाओं का क्रियान्वयन जल विकास निगम के माध्यम से किया जायेगा। कम से कम 50 प्रतिशत नलकूप का खनन विभागीय मशीनों से होगा। यह जानकारी आज यहाँ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गयी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा में दी गयी। बताया गया कि सतही जल-स्त्रोतों पर आधारित योजना का प्रस्ताव कैबिनेट की अगली बैठक में प्रस्तुत किया जायेगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि डार्क एरिया, जहाँ पानी की समस्या है, में पेयजल उपलब्ध करवाने पर विशेष ध्यान दिया जाय। पेयजल योजनाएँ आगामी 25 वर्ष की जनसंख्या तथा विकास को ध्यान में रखते हुए बनायी जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि उनके द्वारा की गयी घोषणाओं के अमल में विलम्ब नहीं हो। श्री चौहान ने भू-जल संवर्धन के कार्यों के स्थल निरीक्षण के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि नलकूप खनन के लिये क्षेत्र में भेजी जाने वाली विभागीय मशीनों की निगरानी जी पी एस सिस्टम से की जायेगी। विभागीय योजनाओं का थर्ड पार्टी निरीक्षण तथा मूल्यांकन करवाया जायेगा। इसमें सेवानिवृत्त विभागीय अधिकारी तथा अन्य विभागों के अधिकारियों की सेवाएँ ली जायेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा सिस्टम बनाया जाय जिसमें गड़बड़ी की गुंजाइश ही नहीं रहे। बैठक में जानकारी दी गयी कि बंद पड़ी सभी नल-जल योजनाएँ अभियान चलाकर चालू की जा रही हैं। बीते वित्तीय वर्ष के दौरान इस अभियान में 1100 नल-जल योजनाएँ चालू की गयीं।
बैठक में बताया गया कि प्रदेश के इंटीग्रेटेड एक्शन प्लान वाले नौ जिलों सहित 13 जिलों के 735 ग्राम में इस वर्ष दोहरी सुविधा वाली जल योजना क्रियान्वित की जायेगी। रुपये 38 करोड़ 36 लाख लागत की इन योजनाओं में सब्सिडी उपलब्ध करवाने का प्रस्ताव केन्द्र शासन को भेजा गया है। इन योजनाओं में हैण्ड पम्पों में सोलर पम्प लगाये जायेंगे। जिससे सूर्य की रोशनी के दौरान पम्प से पानी प्राप्त होगा तथा जरूरत पड़ने पर हैण्ड पम्प भी चलाये जा सकेंगे।
बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, मुख्य सचिव श्री आर. परशुराम, प्रमुख सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव श्री अजय नाथ, सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री एस.के. मिश्रा सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।