Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
माटी की सुंगध बिखेर रहा है माटी कला बोर्ड फ्यूचर ग्रुप इंदौर-भोपाल कॉरिडोर में उद्योग स्थापित करेगा किसान सम्मेलन में भाग लेंगे वन मंत्री डॉ. शेजवार समग्र पोर्टल के जरिये 5.11 करोड़ लोगों को खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ भारत-चीन सम्बंध ‘‘इंच से मीलों की ओर’’ प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय राहत कोष में 15 करोड़ रुपये का योगदान उप्र में समाजवादी पार्टी का शानदार प्रदर्शन भारत और चीन के बीच बातचीत काफी अहम होगी: प्रधानमंत्री जम्‍मू-कश्‍मीर में बचाये गये लोगों की तादाद 2,37,000 के भी पार उप-चुनावों में नतीजे उम्मीदों के अनुरूप नहीं आए: भाजपा मध्यप्रदेश में नेशनल कामधेनु ब्रीडिंग सेन्टर खुले पिछले एक दशक में औद्योगिक अधोसंरचना विकास पर 745 करोड़ रुपये खर्च पर्यावरण मानदण्‍ड सख्‍त तथा व्‍यावहारिक बनाये जायें : श्री जावडेकर प्रधानमंत्री ने ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबॉट से टेलीफोन पर प्रदेश में वेट संशोधन अध्यादेश लागू बाढ़ पीड़ितों की सहायता हेतु प्रदेश में पखवाडा आयोजित किया जायेगा 14 लाख से ज्यादा किसान को मिलेगी बीमा दावा राशि कलराज मिश्र ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में मुख्य अतिथि होंगे प्रधानमंत्री ने नवीन गरीब हितकारी पहल-स्वावलंबन अभियान का शुभारंभ किया गृह मंत्री काठमांडू में आंतरिक/गृह सार्क मंत्रियों की बैठक में भाग लेंगे नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिन पर मां से आशीर्वाद लिया लालकृष्ण आडवाणी लोकसभा आचार समिति के नए अध्यक्ष चीन के राष्ट्रपति ने मोदी को जन्मदिन पर मुबारकबाद दी मध्यप्रदेश में अनेक मल्टीनेशनल कम्पनी सफलता से कर रही काम मध्यप्रदेश में गरीबी उन्मूलन के सफल प्रयासों को विश्व बेंक ने सराहा योजनाओं का अधिकतम लाभ वास्तविक हितग्राहियों तक पहुँचे समग्र छात्रवृत्ति के लिये डेढ़ करोड़ से अधिक बच्चों की मेपिंग सुपर 500 योजना हुई सुपर 5000 योजना प्रधानमंत्री और चीन के राष्‍ट्रपति की मौजूदगी में तीन एमओयू पर हस्‍ताक्षर केन्द्रीय भवन और अन्य निर्माण श्रमिक सलाहकार समिति की 16वीं बैठक प्रदेश में माँग की तुलना में बिजली की उपलब्धता ज्यादा उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा वाल्मीकी पार्क के विकास कार्य का भूमि-पूजन फसल बीमा योजना में और सुधार के प्रयास जारी अंतर सिंह आर्य ने दुआओं के बीच विदा किया हज-यात्रियों को चीन के राष्‍ट्रपति प्रधानमंत्री श्री मोदी के साथ साबरमती आश्रम देखने गए Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

मुख्यमंत्री ने की लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा

MP POST:-15-05-2012
भोपाल।प्रदेश में नदी, डेम आदि सतही जल-स्त्रोतों पर आधारित समूह जल प्रदाय योजनाओं का क्रियान्वयन जल विकास निगम के माध्यम से किया जायेगा। कम से कम 50 प्रतिशत नलकूप का खनन विभागीय मशीनों से होगा। यह जानकारी आज यहाँ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गयी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा में दी गयी। बताया गया कि सतही जल-स्त्रोतों पर आधारित योजना का प्रस्ताव कैबिनेट की अगली बैठक में प्रस्तुत किया जायेगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि डार्क एरिया, जहाँ पानी की समस्या है, में पेयजल उपलब्ध करवाने पर विशेष ध्यान दिया जाय। पेयजल योजनाएँ आगामी 25 वर्ष की जनसंख्या तथा विकास को ध्यान में रखते हुए बनायी जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि उनके द्वारा की गयी घोषणाओं के अमल में विलम्ब नहीं हो। श्री चौहान ने भू-जल संवर्धन के कार्यों के स्थल निरीक्षण के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि नलकूप खनन के लिये क्षेत्र में भेजी जाने वाली विभागीय मशीनों की निगरानी जी पी एस सिस्टम से की जायेगी। विभागीय योजनाओं का थर्ड पार्टी निरीक्षण तथा मूल्यांकन करवाया जायेगा। इसमें सेवानिवृत्त विभागीय अधिकारी तथा अन्य विभागों के अधिकारियों की सेवाएँ ली जायेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा सिस्टम बनाया जाय जिसमें गड़बड़ी की गुंजाइश ही नहीं रहे। बैठक में जानकारी दी गयी कि बंद पड़ी सभी नल-जल योजनाएँ अभियान चलाकर चालू की जा रही हैं। बीते वित्तीय वर्ष के दौरान इस अभियान में 1100 नल-जल योजनाएँ चालू की गयीं।
बैठक में बताया गया कि प्रदेश के इंटीग्रेटेड एक्शन प्लान वाले नौ जिलों सहित 13 जिलों के 735 ग्राम में इस वर्ष दोहरी सुविधा वाली जल योजना क्रियान्वित की जायेगी। रुपये 38 करोड़ 36 लाख लागत की इन योजनाओं में सब्सिडी उपलब्ध करवाने का प्रस्ताव केन्द्र शासन को भेजा गया है। इन योजनाओं में हैण्ड पम्पों में सोलर पम्प लगाये जायेंगे। जिससे सूर्य की रोशनी के दौरान पम्प से पानी प्राप्त होगा तथा जरूरत पड़ने पर हैण्ड पम्प भी चलाये जा सकेंगे।
बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, मुख्य सचिव श्री आर. परशुराम, प्रमुख सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव श्री अजय नाथ, सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री एस.के. मिश्रा सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।