Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
आईआईटी के पूर्व छात्रों का समूह बने -प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 1965 युद्ध के सैनिक 09 सितम्बर 2014 को सम्मानित होंगे राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य द्वारा मंत्रालय का औचक निरीक्षण गुजरात के मंत्री सौरभ पटेल ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की तेलंगाना और आंध्रप्रदेश के राज्यपाल ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की नेता विपक्ष को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब मध्यप्रदेश में बाँस से मिलेगा 5 लाख ग्रामीण को रोजगार पंचायत आम निर्वाचन के लिये स्टेंडिंग कमेटी गठित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट इंदौर में लगभग 20 देश की होगी पार्टनरशिप हरियाणा के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आज स्वदेश आगमन प्रदेश में बिजली आपूर्ति में निरंतर सुधार सरकार शोध के लिए अधिक धन देगी:- डॉ. जितेंद्र सिंह कोलाबा-सीप्ज मेट्रो परियोजना का काम जल्द शुरू होगा: वेंकैया नायडू पेसा एक्ट पर भोपाल में 4 सितम्बर को राज्य-स्तरीय कार्यशाला सरकारी दफ्तरों की साफ-सफाई के लिए सचिवों को निर्देश श्रीलंका के टीएनए प्रतिनिधिमंडल ने की सुषमा से मुलाकात राष्ट्रपति 23 और 24 अगस्त को पश्चिम बंगाल की यात्रा करेंगे यू.जी.सी. वेतनमान भुगतान के लिए केन्द्र से मिले 65 करोड़ 50 लाख रुपये विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति स्वीकृति और वितरण की प्रक्रिया हुई ऑनलाइन समय पर राशन कार्ड न बनाने पर आर्थिक जुर्माने का प्रावधान प्रधानमंत्री ने तमिल नेशनल एलांयन्‍स के प्रतिनिधिमंडल का स्‍वागत किया सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा की तारीख आगे नहीं बढ़ेगी: SC गैस मूल्य के नए फॉर्मूले तय करने के लिए सचिवों की समिति राष्ट्रपति ने यू. आर. अनंतमूर्ति के निधन पर शोक व्यक्त किया सु्प्रीम कोर्ट का सवाल केन्द्र सरकार से है: सुमित्रा महाजन बेहतर रिजल्ट के लिये बेहतर प्रशिक्षण जरूरी दमोह में पेयजल समस्या होगी इतिहास की बात IIT अग्रणी प्रौद्योगिकी विकसित भी करें: प्रणब मुखर्जी विद्युत व्यवस्था हर हाल में सुचारू और सक्षम बनी रहे - श्री चौहान छह पार्टनर कन्ट्री सहित बीस देशों की भागीदारी होगी विदेश प्रवास से लौटने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का स्वागत विधानसभा उप चुनाव की मतगणना 25 अगस्त को पाकिस्तानी सेना की फायरिंग का भारतीय सेना माकूल जवाब दे रही है: जेटली Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

वोटर-लिस्ट वेबसाइट पर उपलब्ध-विधानसभा निर्वाचन-2013

MP POST:-25-03-2013
भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय की वेबसाइट पर वर्ष 2013 की वोटर-लिस्ट उपलब्ध करवाई गई है। वेबसाइट को देखकर मतदाता अपना नाम वोटर-लिस्ट में है या नहीं, पता कर सकेंगे। वेबसाइट पर मतदाता वोटर-लिस्ट में अपना नाम सर्च कर सकेंगे। इसके लिये उन्हें अपना नाम एवं एपिक-कार्ड का नम्बर डालना होगा। यदि एपिक-कार्ड का नम्बर डालने से नाम नहीं आता है तो आवेदक को फार्म नम्बर-6 भरकर अपना नाम जुड़वाना होगा।
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जयदीप गोविंद ने सभी मतदाताओं से अपील की है कि वे वेबसाइट पर सर्च सुविधा का उपयोग कर अपना नाम सूची में है या नहीं, जरूर देखें। सूची में नाम न होने पर फार्म नम्बर-6 भरकर मतदाता परिचय-पत्र प्राप्त करने की कार्यवाही करें। नाम जोड़ने और नये एपिक कार्य के लिये सभी मतदान-केन्द्रों को 15 दिन का समय दिया गया है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र का कोई भी मतदाता डुप्लीकेट कार्ड तहसील कार्यालय में स्थापित सहायता केन्द्र पर तत्काल बनवा सकता है। पुराने कार्ड की त्रुटियों में सुधार के लिये फार्म नम्बर-8 भरकर प्रस्तुत किया जा सकता है। नाम विलोपित करने के लिये फार्म नम्बर-7 मान्य होगा। विधानसभा क्षेत्र में एक स्थान से दूसरे स्थान पर नाम ट्रांसफर करवाने के लिये फार्म नम्बर-8 ‘क’ भरकर जमा किया जा सकेगा।
श्री जयदीप गोविंद ने बताया कि मतदाता-सूची में नाम हो तथा पूर्व का बना हुआ एपिक-कार्ड गुम या खराब हो गया हो तो आवेदन-पत्र भरकर तथा 25 रुपये जमा कर तुरंत डुप्लीकेट एपिक-कार्ड बनवाया जा सकता है। मतदाता सुविधा-केन्द्रों का समय कार्यालयीन दिवसों में सबेरे 10.30 से शाम 5.30 बजे तक है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने ऐसे पात्र मतदाताओं, जिनकी आयु एक जनवरी, 2013 को 18 वर्ष की हो गई है तथा जिनका नाम मतदाता-सूची में शामिल नहीं है, उनसे भी अपना नाम जुड़वाने की अपील की है।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश का मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय इन दिनों आमजन को चुनाव प्रक्रिया से जोड़ने की दिशा में लगातार सक्रिय है। मतदाताओं की सुविधा के लिये राष्ट्रीय-स्तर की हेल्पलाइन, वेबसाइट तथा टोल-फ्री नम्बर 1950 उपलब्ध करवाया गया है। प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में मतदाता सुविधा-केन्द्र स्थापित किये गये हैं। साथ ही 230 विधानसभा क्षेत्र मुख्यालयों पर भी मतदाता सहायता-केन्द्रों की स्थापना की गई है। इस प्रकार अब मतदाताओं को सालभर आसानी से वोटर-लिस्ट एवं मतदाता पहचान-पत्र संबंधी कार्य की सुविधा उपलब्ध रहेगी। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के 17, अरेरा हिल्स, भोपाल स्थित कार्यालय में भी राज्य-स्तरीय मतदाता सुविधा-केन्द्र विगत जनवरी से मतदाताओं को सुविधा प्रदान कर रहा है। इस केन्द्र पर नाम जोड़ने के लिये फार्म, डुप्लीकेट पहचान-पत्र बनवाने तथा त्रुटियों के सुधार के लिये आवेदन दिये जा रहे हैं।