Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
प्रधानमंत्री ने धनतेरस के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी दीपावली के दिन प्रधानमंत्री श्रीनगर में होंगे उपराष्‍ट्रपति ने दीपावली की शुभकामनाएं दीं स्वच्छ भारत के लिये स्वच्छ मध्यप्रदेश बनायें राज्यपाल श्री यादव द्वारा पुलिस स्मृति दिवस पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि मनोहर लाल खट्टर होंगे हरियाणा में भाजपा के मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए ऑस्ट्रेलिया है तैयार प्रधानमंत्री ने मलेशिया के प्रधानमंत्री से टेलीफोन पर बातचीत की इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रहः वाहन चालकों के लिए एकसमान मानक सेवा मां लक्ष्मी प्रदेश और देश की जनता पर सुख-समृद्धि बनायें रखें- श्री चौहान दीपावली जन-जन के जीवन में खुशहाली लायेगी- नंदकुमारसिंह चौहान प्रदेश के सभी जिलों में होंगे स्थापना दिवस समारोह कमल्याखेड़ा की बहनों का संकल्प हुआ पूरा प्रदेश के आई.टी.आई. उद्योगों की माँग के अनुरूप होंगे विनय सहस्त्रबुद्धे को मप्र प्रदेश प्रभारी बनाए जाने पर बधाई विश्व की पहली व्हाइट टाइगर सफारी का कार्य अंतिम चरण में PM ने पुलिस स्‍मृति दिवस पर पुलिसकर्मियों की बहादुरी को नमन किया भारत दूरसंचार तथा इंटरनेट गवर्नेंस के लोकतंत्रीकरण के पक्ष में : रविशंकर Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

वोटर-लिस्ट वेबसाइट पर उपलब्ध-विधानसभा निर्वाचन-2013

MP POST:-25-03-2013
भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय की वेबसाइट पर वर्ष 2013 की वोटर-लिस्ट उपलब्ध करवाई गई है। वेबसाइट को देखकर मतदाता अपना नाम वोटर-लिस्ट में है या नहीं, पता कर सकेंगे। वेबसाइट पर मतदाता वोटर-लिस्ट में अपना नाम सर्च कर सकेंगे। इसके लिये उन्हें अपना नाम एवं एपिक-कार्ड का नम्बर डालना होगा। यदि एपिक-कार्ड का नम्बर डालने से नाम नहीं आता है तो आवेदक को फार्म नम्बर-6 भरकर अपना नाम जुड़वाना होगा।
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जयदीप गोविंद ने सभी मतदाताओं से अपील की है कि वे वेबसाइट पर सर्च सुविधा का उपयोग कर अपना नाम सूची में है या नहीं, जरूर देखें। सूची में नाम न होने पर फार्म नम्बर-6 भरकर मतदाता परिचय-पत्र प्राप्त करने की कार्यवाही करें। नाम जोड़ने और नये एपिक कार्य के लिये सभी मतदान-केन्द्रों को 15 दिन का समय दिया गया है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र का कोई भी मतदाता डुप्लीकेट कार्ड तहसील कार्यालय में स्थापित सहायता केन्द्र पर तत्काल बनवा सकता है। पुराने कार्ड की त्रुटियों में सुधार के लिये फार्म नम्बर-8 भरकर प्रस्तुत किया जा सकता है। नाम विलोपित करने के लिये फार्म नम्बर-7 मान्य होगा। विधानसभा क्षेत्र में एक स्थान से दूसरे स्थान पर नाम ट्रांसफर करवाने के लिये फार्म नम्बर-8 ‘क’ भरकर जमा किया जा सकेगा।
श्री जयदीप गोविंद ने बताया कि मतदाता-सूची में नाम हो तथा पूर्व का बना हुआ एपिक-कार्ड गुम या खराब हो गया हो तो आवेदन-पत्र भरकर तथा 25 रुपये जमा कर तुरंत डुप्लीकेट एपिक-कार्ड बनवाया जा सकता है। मतदाता सुविधा-केन्द्रों का समय कार्यालयीन दिवसों में सबेरे 10.30 से शाम 5.30 बजे तक है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने ऐसे पात्र मतदाताओं, जिनकी आयु एक जनवरी, 2013 को 18 वर्ष की हो गई है तथा जिनका नाम मतदाता-सूची में शामिल नहीं है, उनसे भी अपना नाम जुड़वाने की अपील की है।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश का मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय इन दिनों आमजन को चुनाव प्रक्रिया से जोड़ने की दिशा में लगातार सक्रिय है। मतदाताओं की सुविधा के लिये राष्ट्रीय-स्तर की हेल्पलाइन, वेबसाइट तथा टोल-फ्री नम्बर 1950 उपलब्ध करवाया गया है। प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में मतदाता सुविधा-केन्द्र स्थापित किये गये हैं। साथ ही 230 विधानसभा क्षेत्र मुख्यालयों पर भी मतदाता सहायता-केन्द्रों की स्थापना की गई है। इस प्रकार अब मतदाताओं को सालभर आसानी से वोटर-लिस्ट एवं मतदाता पहचान-पत्र संबंधी कार्य की सुविधा उपलब्ध रहेगी। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के 17, अरेरा हिल्स, भोपाल स्थित कार्यालय में भी राज्य-स्तरीय मतदाता सुविधा-केन्द्र विगत जनवरी से मतदाताओं को सुविधा प्रदान कर रहा है। इस केन्द्र पर नाम जोड़ने के लिये फार्म, डुप्लीकेट पहचान-पत्र बनवाने तथा त्रुटियों के सुधार के लिये आवेदन दिये जा रहे हैं।