Facebook Twitter Youtube g+ Linkedin
प्रधानमंत्री से आगा खान फाउंडेशन के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की डॉ. हर्षवर्धन ने ममता बनर्जी को केंद्र का सहयोग देने के लिए पत्र लिखा PM ने मेडक जिले में हुई दुर्घटना में मारे गए लोगों के प्रति शोक व्यक्त किया कैबिनेट ने बीमा क्षेत्र में FDI सीमा 49 प्रतिशत करने की मंजूरी इराक से भारतीय बंधकों को छुड़ाने के प्रयास जारीः सुषमा मध्यप्रदेश के हर गाँव का मास्टर प्लान तैयार केन्द्रीय बजट से संबंधित योजनाओं के प्रस्ताव तैयार करें 15 जिलों के 25 सरपंच का चुनाव ई.व्ही.एम. से होगा उद्योग मंत्री कल मुम्बई में मिलेंगी उद्योगपतियों से केन्द्रीय मंत्री नजमा हेपतुल्ला का मप्र वक्फ बोर्ड से त्यागपत्र स्वीकृत किसानों को विशेष परिस्थिति में सोयाबीन 30 जुलाई तक बोने की सलाह वन मंत्री श्री शेजवार 26 जुलाई को रायसेन और 28 जुलाई को दिल्ली जायेंगे बाढ़ की स्थिति से निपटने के प्रबन्ध करें: श्री चौहान दक्षिण अफ्रीका के भारत एवं मध्यप्रदेश से मधुर संबंध उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा अंबेडकर नगर में सी.सी. रोड का भूमि-पूजन प्रधानमंत्री से नगालैंड के राज्यपाल ने भेंट की केन्द्रीय चुनाव समिति उपचुनाव के प्रत्याशियों के नामों की घोषणा करेगी राष्ट्रपति ने CWG में भारतीय टीमों को शुभकामनाएं दी ट्रेनों में स्वच्छ भोजन उपलब्ध कराने की सुनिश्चित पहल: रेल मंत्री अब सड़क दुर्घटना में मृतक के परिवार को 15 हजार की सहायता Follows us on 
 मुख्य शीर्षक
 आज के कार्यक्रम
..........
 आमने सामने
  

वोटर-लिस्ट वेबसाइट पर उपलब्ध-विधानसभा निर्वाचन-2013

MP POST:-25-03-2013
भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय की वेबसाइट पर वर्ष 2013 की वोटर-लिस्ट उपलब्ध करवाई गई है। वेबसाइट को देखकर मतदाता अपना नाम वोटर-लिस्ट में है या नहीं, पता कर सकेंगे। वेबसाइट पर मतदाता वोटर-लिस्ट में अपना नाम सर्च कर सकेंगे। इसके लिये उन्हें अपना नाम एवं एपिक-कार्ड का नम्बर डालना होगा। यदि एपिक-कार्ड का नम्बर डालने से नाम नहीं आता है तो आवेदक को फार्म नम्बर-6 भरकर अपना नाम जुड़वाना होगा।
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जयदीप गोविंद ने सभी मतदाताओं से अपील की है कि वे वेबसाइट पर सर्च सुविधा का उपयोग कर अपना नाम सूची में है या नहीं, जरूर देखें। सूची में नाम न होने पर फार्म नम्बर-6 भरकर मतदाता परिचय-पत्र प्राप्त करने की कार्यवाही करें। नाम जोड़ने और नये एपिक कार्य के लिये सभी मतदान-केन्द्रों को 15 दिन का समय दिया गया है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र का कोई भी मतदाता डुप्लीकेट कार्ड तहसील कार्यालय में स्थापित सहायता केन्द्र पर तत्काल बनवा सकता है। पुराने कार्ड की त्रुटियों में सुधार के लिये फार्म नम्बर-8 भरकर प्रस्तुत किया जा सकता है। नाम विलोपित करने के लिये फार्म नम्बर-7 मान्य होगा। विधानसभा क्षेत्र में एक स्थान से दूसरे स्थान पर नाम ट्रांसफर करवाने के लिये फार्म नम्बर-8 ‘क’ भरकर जमा किया जा सकेगा।
श्री जयदीप गोविंद ने बताया कि मतदाता-सूची में नाम हो तथा पूर्व का बना हुआ एपिक-कार्ड गुम या खराब हो गया हो तो आवेदन-पत्र भरकर तथा 25 रुपये जमा कर तुरंत डुप्लीकेट एपिक-कार्ड बनवाया जा सकता है। मतदाता सुविधा-केन्द्रों का समय कार्यालयीन दिवसों में सबेरे 10.30 से शाम 5.30 बजे तक है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने ऐसे पात्र मतदाताओं, जिनकी आयु एक जनवरी, 2013 को 18 वर्ष की हो गई है तथा जिनका नाम मतदाता-सूची में शामिल नहीं है, उनसे भी अपना नाम जुड़वाने की अपील की है।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश का मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय इन दिनों आमजन को चुनाव प्रक्रिया से जोड़ने की दिशा में लगातार सक्रिय है। मतदाताओं की सुविधा के लिये राष्ट्रीय-स्तर की हेल्पलाइन, वेबसाइट तथा टोल-फ्री नम्बर 1950 उपलब्ध करवाया गया है। प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में मतदाता सुविधा-केन्द्र स्थापित किये गये हैं। साथ ही 230 विधानसभा क्षेत्र मुख्यालयों पर भी मतदाता सहायता-केन्द्रों की स्थापना की गई है। इस प्रकार अब मतदाताओं को सालभर आसानी से वोटर-लिस्ट एवं मतदाता पहचान-पत्र संबंधी कार्य की सुविधा उपलब्ध रहेगी। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के 17, अरेरा हिल्स, भोपाल स्थित कार्यालय में भी राज्य-स्तरीय मतदाता सुविधा-केन्द्र विगत जनवरी से मतदाताओं को सुविधा प्रदान कर रहा है। इस केन्द्र पर नाम जोड़ने के लिये फार्म, डुप्लीकेट पहचान-पत्र बनवाने तथा त्रुटियों के सुधार के लिये आवेदन दिये जा रहे हैं।